केरल में कुदरत ने कहर बरपाया है.केरल में मई से अब तक 324 लोगों की मौत होने के बाद शनिवार को 23 और शव मिले। इनमें से 15 शव बाढ़ के पानी में तैरते मिले। इस बीच, मौसम विभाग ने केरल के 14 में से 11 जिलों में भारी बारिश की आशंका के चलते रेड अलर्ट जारी किया। तिरुवंतपुरम, कोल्लम और कासरगोड को छोड़कर बाकी सभी जिलों में भारी बारिश हो सकती है।

केरल में बाढ़ के चलते 80 हजार लोग विस्थापित हुए हैं। इनमें अकेले एर्नाकुलम के अलुवा के 70 हजार लोग शामिल हैं। बाढ़ से केरल में आठ हजार करोड़ रुपए का नुकसान हुआ। सेना की 16, नोसेना की 28 और एनडीआरएफ की 58 टीम राहत-बचाव कार्य में जुटी हैं।

100 years biggest flood in Kerala - Red alert in 11 districts of Kerala

आईसीआईसीआई बैंक और एसबीआई ने केरल में ग्राहकों से इस महीने ईएमआई और क्रेडिट कार्ड के बिल चुकाने में देरी पर पेनल्टी माफ करने का ऐलान किया है।

राज्य के 12 जिलों में 3.14 लाख लोग बेघर हो चुके हैं। इन्हें 1568 राहत शिविरों में रखा गया है। उधर, कर्नाटक के छह जिलों में बाढ़ के हालात हैं, छह लोगों की मौत हुई। तमिलनाडु और कर्नाटक में भारी बारिश का अलर्ट है।

शनिवार सुबह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई दौरा किया। उन्होंने राज्य को 500 करोड़ रुपए की अतिरिक्त मदद देने का एेलान किया। पहले 100 करोड़ की मदद दी गई थी। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र के इस फैसले का स्वागत किया। उन्होंने ट्वीट कर कहा- " केरल में लोगों की जिंदगी दांव पर लगी। बिना देरी के इसे राष्ट्रीय आपदा घोषित किया जाए।"

केरल की मदद के लिए कई राज्य आगे आए - तेलंगाना सरकार ने 25 करोड़, महाराष्ट्र ने 20, उत्तरप्रदेश ने 15, दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, बिहार, गुजरात, आंध्रप्रदेश ने 10-10 और ओडिशा, झारखंड और हिमाचल ने 5-5 करोड़ रुपए की सहायता का ऐलान किया। एसबीआई ने भी केरल को दो करोड़ की मदद दी है। आम आदमी पार्टी के सभी सांसद और विधायकों ने एक महीने की सैलरी बाढ़ पीड़ितों को दान की।

आपदा में मारे गए लोगों के परिजन को केंद्र की तरफ से 2-2 लाख रुपए दिए जाएंगे। सऊदी अरब के शेख खलीफा ने केरल में बाढ़ राहत के लिए एक कमेटी बनाई। संयुक्त अरब अमीरात ने भी मदद की पेशकश दी है। शुक्रवार (17 अगस्त) को चेंगन्नर के माकपा विधायक साजी चेरियन पीएम नरेंद्र मोदी से मदद की अपील कर टीवी स्टूडियो में ही रोने लगे। अपने विधानसभा क्षेत्र की हालत का वर्णन करते हुए चेरियन ने रोते हुए कहा, “प्लीज मोदी को कहिए वो हमें हेलिकॉप्टर दें, हमें हेलिकॉप्टर चाहिए…प्लीज, प्लीज…नहीं तो 50000 लोग मारे जाएंगे, हमलोग नेवी से पिछले चार दिनों से मदद मांग रहे हैं लेकिन अबतक को मदद नहीं पहुंचा है, अब एकमात्र उपाय एयरलिफ्ट ही रह गया है…प्लीज, प्लीज, प्लीज।”

कर्नाटक के दक्षिण कन्नड़, उत्तर कन्नड़, उडुपी, चिकमंगलुरू, कोडगू, हासन का कुछ हिस्सा बाढ़ की चपेट में हैं। मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने बताया कि कोडगू जिले में बाढ़-बारिश से छह लोगों को मौत हुई। 11 हजार घरों को नुकसान पहुंचा है। बाढ़ प्रभावित इलाकों में सेना और एनडीआरएफ के एक हजार जवान राहत कार्य में जुटे हुए हैं। वायुसेना ने बाढ़ में फंसे 873 लोगों को 17 राहत शिविरों में पहुंचाया। कर्नाटक के 16 अन्य जिले सूखे की चपेट में हैं। केरल और कर्नाटक में बारिश से आंध्रप्रदेश और तेलंगाना में कावेरी और गोदावरी सहित अन्य नदियां उफान पर हैं। तटीय गांवों में बाढ़ का पानी भर गया है।

सिविल एविएशन मिनिस्टर सुरेश प्रभु ने ट्वीट कर बताया- "बेंगलुरु और कोच्चि नौसेना एयरबेस के बीच फ्लाइट ऑपरेशन 20 अगस्त की सुबह से शुरू होगा।"

मानसून गुजरात, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश और राजस्थान में फिर सक्रिय हो गया है। महाराष्ट्र में पिछले तीन दिनों से बारिश हो रही है। गुजरात में एक पखवाड़े के बाद कच्छ को छोड़कर अधिकतर हिस्सों में भारी बारिश हुई। अहमदाबाद में जलभराव से जनजीवन पर असर पड़ा। मध्यप्रदेश और राजस्थान के कुछ हिस्सों में भी बारिश ने जोर पकड़ लिया है।

girjoo.com मे बिज़नस लिस्टिंग कीजिये
अधिक जानकारी के लिए सम्पर्क कीजिये  This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it. 

See More Related News

See More Related Articles

View Exclusive Collection of News...

View All Girjoo.com Listings...